Bhopal: शिवराज कैबिनेट का गठन, जानें कौन किस जिले से बना मंत्री

प्रदेश

मध्यप्रदेश में 34 मंत्री बनाए जा सकते हैं।

भोपाल. मध्यप्रदेश में लंबे इंतजार के बाद शिवराज कैबिनेट का गठन हो गया है। पांच नेताओं ने आज कैबिनेट पद की शपथ ली। कोरोना संकट के कारण अभी मध्यप्रदेश में मिनी कैबिनेट का गठन किया गया है। शिवराज सिंह चौहान अभी तक कोरोना संकट पर अकेले ही पूरा संभाल रहे थे। लेकिन अब मंत्रिमंडल का गठन हो गया है। इस मंत्रिमंडल में ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे से दो नेताओं ने शपथ ली है। आइए आपको बताते हैं किस जिले-से कौन से नेता ने मंत्री पद की शपथ ली है।

डॉ नरोत्तम मिश्रा

विधानसभा- दतिया से लगातार 6 बार विधायक।
ताकत: पूर्व मंत्री भाजपा में संकट मोचक की भूमिका निभाने वाले नेता। मैंनेजमेंट में माहिर, ऑपरेशन लोटस में अहम भूमिका। ग्वालियर-चंबल के कद्दावर नेता। मध्यप्रदेश के बड़े ब्राह्मण चेहरा। शिवराज सिंह चौहान की पूर्व सरकार में भी मंत्री रहे हैं।

तुलसी सिलावट

विधानसभा सीट: इंदौर की सांवेर विधानसभा से लगातार 4 बार विधायक रहे। कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद भाजपा में शामिल हुए। कांग्रेस के बागी विधायकों में से एक।
ताकत: सिंधिया कैंप से सबसे अनुभवी नेता, सिंधिया के भरोसेमंद, दलित चेहरा, भाजपा में तेजी से मान्यता स्थापित की। टास्कफोर्स के सदस्य। कमलनाथ सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे। मालवा क्षेत्र के बड़े चेहरे।

गोविंद सिंह राजपूत

विधानसभा- सागर जिले की सुरखी विधानसभा सीट से तीन बार विधायक रहे। कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद भाजपा में शामिल हुए।
ताकत: सिंधिया के करीबी नेता, मंत्री पद छोड़ने के कारण स्वाभाविक दावेदारी थी। कमलनाथ सरकार में राजस्व वा परिवहन मंत्री थे। बुंदेलखंड के बड़े चेहरे। क्षत्रीय वर्ग से आते हैं।

मीना सिंह

विधानसभा: उमारिया जिले की मानपुर विधानसभा सीट से पांचवीं बार विधायक।
ताकत: आदिवासी और महिला चेहरा, शिवराज कैंप की नेता, पूर्व मंत्री। मध्यप्रदेश के विंध्य क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करती हैं। विंध्य में बड़ा आदिवासी चेहरा।

कमल पटेल

विधानसभा: हरदा जिले की हरदा विधानसभा सीट से पांच बार विधायक रहे।
ताकत: संघ की पसंद, शिवराज सिंह चौहान के करीबी माने जाते हैं। पहले भी मंत्री रह चुके हैं। निमाड़ के कद्दावर नेता।