Gonda UP : 1000 क्विंटल खाद्यान्न के गबन पर नहीं हुई अभी तक एफआईआर

प्रदेश

हाईकोर्ट का आदेश बेअसर

गोंडा, उत्तर प्रदेश। मामला गोंडा जिला की मनकापुर तहसील का है जहां पर 1000 कुंतल खाद्यान्न गमन का मामला 2 साल से चल रहा है जिस पर डीएम गोंडा कैप्टन प्रभास कुमार श्रीवास्तव द्धारा दिनांक 13.6. 2018 को ग्राम प्रधान पूर्ति निरीक्षक व दुकानदार पर एफ आई आर दर्ज कराने का आदेश दिया था लेकिन तीनों की पहुंच ऊंची होने के कारण अभी तक नहीं हुआ जिस पर शिकायतकर्ता माननीय उच्चतम न्यायालय हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जहां पर 21.2.2019को डीएम के आदेश का पालन करवाने हेतु 3 महीने के अंदर आदेश हुआ था लेकिन उसके बाद भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई जिसको देखते हुए शिकायतकर्ता संपूर्ण समाधान दिवस में डीएम गोंडा से मिलकर खाद्यान्न गमन में दोषी ग्राम प्रधान रघुनाथ प्रसाद द्विवेदी आत्माराम पूर्ति निरीक्षक पर एफ आई आर दर्ज कराने की मांग की है लेकिन देखना यह है की डीएम और हाईकोर्ट का आदेश खाद्यान्न विभाग के दबंग अधिकारियों पर कितना मायने रखता है दोषियों पर कार्रवाई होती है या नहीं