कन्यादान योजना में कराई थी दंपती की फिर शादी, शिकायत से खुलासा

छिंदवाड़ा

योजना का लाभ लेने दोबारा शादी की थी। अब ससुराल पक्ष ने दहेज हड़प लिया तो पत्नी द्वारा की गई शिकायत से यह मामला उजागर हुआ है।

छिंदवाड़ा। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत दो मार्च को छिंदवाड़ा नगर निगम द्वारा कराए गए सम्मेलन में एक दंपती की दोबारा शादी कराने का मामला उजागर हुआ है। डेढ़ साल का बेटा होने के बावजूद इस दंपती ने योजना का लाभ लेने दोबारा शादी की थी। अब ससुराल पक्ष ने दहेज हड़प लिया तो पत्नी द्वारा की गई शिकायत से यह मामला उजागर हुआ है। नगर निगम आयुक्त जांच कराने की बात कह रहे हैं।

गौरतलब है कि दो मार्च को छिंदवाड़ा के दशहरा मैदान में नगर निगम ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत सामूहिक विवाह सम्मेलन कराया था। इसमें 1306 जोड़ों की शादी कराई थी। इसी में पुराना बैल बाजार झोपड़ पट्टी निवासी एक दंपती की दोबारा शादी करा दी गई थी।

अब पत्नी ने पुलिस और नगर निगम में शिकायत की है कि उनकी शादी वर्ष 2016 में हिंदू रीति-रिवाज से हुई थी। उनका डेढ़ साल का बेटा भी है। पति और परिजन की इच्छा से इस साल दो मार्च को सम्मेलन में उनकी दोबारा शादी करा दी गई, ताकि योजना का लाभ ले सकें।

नगर निगम ने दहेज में सिलाई मशीन सहित अन्य सामान और राशि दी थी। अब पति सहित ससुराल पक्ष ने दहेज हड़पकर सिलाई मशीन बेच दी और उसे व बच्चे को घर से बाहर निकालकर ताला डालकर भोपाल चले गए। वह अपने दुधमुंहे बच्चे को लेकर भटक रही है। इस शिकायत से नगर निगम के अमले की लापरवाही उजागर हुई है, जिसने पड़ताल किए बिना दंपती की दोबारा शादी करा दी।

जांच कराएंगे

– यदि महिला ने आवेदन दिया है तो इस मामले की जांच की जाएगी। जांच के बाद जो भी दोषी पाया जाएगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी।

– इच्छित गढ़पाले, आयुक्त, नगरनिगम, छिंदवाड़ा