कृषि क्षेत्र में क्रांति लाने किसानों को समृद्ध होना जरूरी : मुख्यमंत्री

बैतूल

CM कमलनाथ ने बैतूल में किसानों को किसान सम्मान पत्र एवं फसल कर्ज माफी पत्र वितरित किए

बैतूल । मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज बैतूल में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अवसर पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी सरकार घोषणा नहीं करती, काम करके दिखाती है। उन्होंने कहा कि किसानों का कर्ज माफ होने से उनकी क्रय शक्ति बढ़ेगी, ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।श्री कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है। ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली आबादी परोक्ष-अपरोक्ष रूप से आर्थिक रूप से कृषकों को होने वाली आय पर निर्भर है। इसलिए यह आवश्यक है कि किसानों की आय में बढ़ोत्तरी हो ताकि उसकी खर्च करने की क्षमता बढ़े और उसके आधार पर अन्य लोगों की आर्थिक गतिविधि चलती रहे। श्री नाथ ने कहा कि नौजवानों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना दूसरी सबसे बड़ी चुनौती है। वचन पत्र के अनुसार युवाओं को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने स्किल डेव्हलपमेंट का कार्य शुरू किया है। इस दौरान विभिन्न व्यवसायों की स्थापना के लिए प्रशिक्षणरत युवाओं को चार हजार रूपए मासिक के मान से स्टायफंड भी दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार गठन के बाद मात्र 62 दिनों में सरकार ने अपनी नीयत और नीति स्पष्ट कर दी है। सरकार आने वाले पांच वर्षों में प्रदेश के सभी वर्गों को सही मायनों में परिवर्तन महसूस होगा। जिले के प्रभारी एवं प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने इस अवसर पर कहा कि सरकार ने सबसे पहले किसानों का ऋण माफ कर अपने वचन पत्र को पूरा करने की शुरुआत की है। प्रदेश की सरकार आम जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप कार्य कर रही है। सरकार आमजन की सरकार है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास को नए आयाम देना जरूरी है।इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने ताप्ती नदी के उद्गम स्थल मुलताई के विकास के लिए ताप्ती न्यास बनाने के कैबिनेट के निर्णय के लिए मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ का धन्यवाद ज्ञापित किया। श्री पांसे ने कहा कि लागत बढऩे के कारण किसानों की आर्थिक स्थिति खराब हुई है। सरकार का प्रयास है कि खेती भी फायदे का सौदा बने। जय किसान फसल ऋण माफी योजना इस दिशा में उठाया गया पहला कदम है। किसानों का बिजली बिल आधा किया गया है। इसके अलावा दुग्ध उत्पादक किसानों को 5 रूपए प्रति लीटर के मान से बोनस भी दिया जाएगा। कार्यक्रम की शुरुआत में बैतूल विधायक श्री निलय डागा ने स्वागत भाषण दिया। आज मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने प्रतीक स्वरूप दस किसानों को जय किसान फसल ऋण माफी प्रमाण पत्र प्रदान किए। ग्राम गौठाना की श्रीमती शकुंतला देवी का एक लाख 23 हजार रूपए, ग्राम लावन्या के श्री शिवप्रसाद का एक लाख आठ हजार रूपए, ग्राम खेड़ी सांवलीगढ़ के श्री अशोक सिंह का एक लाख 22 हजार, ग्राम जीन के श्री दिनेश सिंह का 41 हजार रूपए, ग्राम सोहागपुर के अजाबराव झरबड़े के 32 हजार रूपए, ग्राम बारव्ही के श्री विजय कुमार राने के 40 हजार रूपए, बैतूलबाजार के श्री विजय कुमार वर्मा के 49 हजार रूपए, ग्राम रोंढा के श्री रामा ढाबले के एक लाख सात हजार रूपए, ग्राम हमलापुर के श्री धनाराम उइक के 49 हजार रूपए, ग्राम बयावाड़ी के श्री संजय व्यास के 39 हजार रूपए तथा बैतूलबाजार के श्री संदीप शुक्ला के 20 हजार रूपए के ऋण माफी प्रमाण पत्र दिए गए। बैतूल जिले में 56721 किसानों के ऋण माफी प्रकरण अभी तक मंजूर किए जा चुके हैं। बैतूल जिले में अब तक 50259 किसानों के 118 करोड़ 50 लाख किसानों के ऋण माफी की प्रक्रिया पूरी की गई है। किसानों द्वारा योजना के तहत किए गए आवेदन जैसे-जैसे स्वीकृत होते जाएंगे, उनके खातों में राशि हस्तांतरित होती जाएगी। यह प्रक्रिया निरंतर चलती रहेगी। कोई भी पात्र किसान इस योजना का लाभ लेने से वंचित नहीं रहेगा। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने 120 करोड रूपए लागत से निर्मित विभिन्न कार्यों का बैतूल में आयोजित कार्यक्रम में लोकार्पण किया। श्री नाथ ने 55 करोड़ रूपए की लागत वाली बैतूल शहर की जल आवर्धन योजना, 40 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित 132/33 केव्ही उपकेन्द्र बिसनूर, 18 करोड़ 62 लाख रूपए की लागत से निर्मित 152 बिस्तर की क्षमता वाले  जिला अस्पताल भवन तथा 6 करोड़ 81 लाख रूपए की लागत से निर्मित कुनखेड़ी से टाकझिरी मार्ग पर पुल, पुलिस अधीक्षक कार्यालय परिसर स्थित नवनिर्मित उप पुलिस अधीक्षक (अजाक) कार्यालय तथा रक्षित केन्द्र स्थित नव निर्मित ओपन जिम एवं बास्केटबॉल ग्राउण्ड का लोकार्पण किया। साथ ही बैतूल नगर में निर्मित 120 गौवंश क्षमता वाली गौशाला का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में बैतूल जिले के प्रभारी एवं पंचायत व ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे, विधायक भैंसदेही श्री धरमूसिंह सिरसाम, विधायक बैतूल श्री निलय डागा, विधायक घोड़ाडोंगरी श्री ब्रह्मा भलावी, पूर्व विधायक श्री विनोद डागा, कमिश्नर श्री रविन्द्र कुमार मिश्रा, कलेक्टर श्री तरूण कुमार पिथोड़े, पुलिस अधीक्षक श्री कार्तिकेयन के. एवं सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी उपस्थित रहे।