नपा बैतूल की हवा बाजी से उलझ गया पारसडोह से पानी लाने का मामला

बैतूल

अभी तक नहीं की एलाटमेंट के लिए कागजी कार्रवाई

बैतूल। ताप्ती बैराज बनने से पहले नगरपालिका द्वारा यह दावा किया जा रहा था कि इसके बनने के बाद शहर में पेयजल संकट दूर हो जाएगा, लेकिन अब बैराज में भी पानी का संकट खड़ा हो गया है। इस संकट से उबरने के लिए नगरपालिका पारसडोह जलाशय से पानी लेने के लिए एग्रीमेंट होने की बात कह रही है। नगरपालिका ने एग्रीमेंट के आधार पर जलसंसाधन विभाग को पत्र लिखकर फरवरी माह के पहले सप्ताह में पानी छोड़े जाने की मांग भी कर डाली, लेकिन विभाग द्वारा अभी तक पानी नहीं छोड़ा गया है। विभाग का कहना है कि पानी छोड़े जाने से पहले शासन से एलाटमेंट होना जरूरी है उसके बाद ही पानी छोड़ा जा सकता है।

जलसंसाधन विभाग का कहना-

पारसडोह जलाशय से 5 एमसीएम पानी छोड़े जाने को लेकर जलसंसाधन विभाग का कहना था कि नगपालिका सिर्फ बातें भर कर रही है। नपा द्वारा पानी के एलाटमेंट के लिए कागजी कार्रवाई अभी तक नहीं की गई है। विभाग अपने स्तर पर जलाशय से पानी नहीं छोड़ सकता है। शासन से एलाटमेंट होने के बाद ही पानी छोड़ा जा सकता है।एलाटमेंट के लिए नगरपालिका को निर्धारित शुल्क भी जमा करना होगा। अभी एलाटमेंट की प्रक्रिया नहीं हुई है इसलिए पानी नहीं दिया गया है। विभाग का कहना था कि पेयजल के लिए जलाशय में पानी आरक्षित किया गया है लेकिन इसे दिए जाने की एक प्रशासनिक प्रक्रिया होती है नगरपालिका चाहती है कि लेटर लिख दिए जाने से पानी मिल जाएगा। जबकि नगरपालिका को कई बार अवगत कराया जा चुका हैं कि पहले शासन से पानी का एलाटमेंट कराया जाए उसके बाद ही पानी दिया जा सकेगा।