दहेज के लिए पत्नी को टॉयलेट की सीट में मुंह डालकर पिलाता था पानी

बैतूल

बैतूल। मानवता को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है जो दहेज के लिए पत्नी को टॉयलेट की सीट में जबरदस्ती मुंह डालकर पानी पीने के लिए मजबूर करता था। ऐसेे पति और उसकी दो ननंद को महिला प्रताडऩा के आरोप में दोषी पाते हुए न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी बैतूल ने एक वर्ष के कठोर कारावास एवं 500-500 रुपए के जुर्माने की सजा से दंडित किया है। प्रकरण में म.प्र शासन की ओर से सहायक जिला अभियोजन अधिकारी अमित जैन ने पैरवी की।
प्रकरण को लेकर बताया कि पीडि़त महिला के पति गिरीश झाम पिता सुरेश झाम निवासी बैतूल गंज एवं पीडि़त महिला की ननंद नीता उर्फ नीतू, नेहा पुत्री सुरेश झाम इन आरोपियों को आरोपी गिरीश की पत्नी सोनम हर्षिता को प्रताडि़त करने एवं दहेज की मांग करने के आरोप में दोषी पाकर इन तीनों आरोपियों को 1-1 (एक -एक ) वर्ष जेल के कठोर कारावास से एवं अर्थ दंड से भी दंडित किया गया है। आरोपीगण उसे टॉयलेट के सीट में मुंह डालकर पानी पीने के लिए विवश करते थे मारपीट करते थे। मुंह में मिर्च डालकर पानी भी पीने नहीं देते थे अन्य प्रकार से भी प्रताडि़त करते थे इस मामले की पुलिस विवेचना प्रधान आरक्षक अनिल शर्मा बैतूल द्वारा की गई थी। अभियोजन की ओर से जिला अभियोजन अधिकारी खान एवं सहयोग सहायक अभियोजन अधिकारियों में अमित राय, अमित जैन एवं (तत्कालीन सहायक अभियोजन अधिकारी संजय पाल )द्वारा किया गया है। अभियोजन पीडि़त की ओर से अभियोजन को सहयोग मदन हीरे अधिवक्ता द्वारा किया गया।