अवैध खनिज उत्खनन रोकने प्रशासन अलर्ट

बैतूल

गुरुवार को आयोजित जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि समस्त फॉरेस्ट बेरियर एवं अवैध खनिज परिवहन के निकासी स्थानों पर बारीकी से निगरानी रखी जाए

बैतूल. जिले में अवैध खनिज उत्खनन के मामलों पर प्रभावी नियंत्रण बनाने के लिए जिला प्रशासन एवं वन विभाग संयुक्त मुहिम छेड़ेगा। गुरुवार को आयोजित जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि समस्त फॉरेस्ट बेरियर एवं अवैध खनिज परिवहन के निकासी स्थानों पर बारीकी से निगरानी रखी जाए। जहां संभव हो सके, वहां सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएं। बैठक में कलेक्टर तरूण कुमार पिथोड़े, पुलिस अधीक्षक कार्तिकेयन के. सहित वन मंडलाधिकारी दक्षिण अशोक कुमार, वन मंडलाधिकारी उत्तर राखी नंदा, वन मंडलाधिकारी उत्पादन पुनीत गोयल सहित खनिज विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे। बैठक में पुलिस थानों एवं चौकियों से भी अवैध परिवहन पर विशेष निगरानी रखे जाने की बात कही गई। बैठक में वन विभाग के अतिक्रमण हटाने पर भी बिंदुवार चर्चा की गई।

दिनभर की १४० वाहनों की जांच, ५१ के विरूद्ध हुई चालानी कार्रवाई
जिला परिवहन कार्यालय एवं यातायात पुलिस विभाग द्वारा आज शहर में संयुक्त रूप से वाहनों की धरपकड़ के लिए अभियान चलाया गया। अभियान के दौरान १४० वाहनों की जांच की गई। वहीं ५१ वाहनों में अनाधिकृत रूप से हूटर, सायरन, नंबर प्लेट, काली फिल्म का उपयोग, बिना अनुमति वाहन में परिवर्तन जैसे यातायात नियमों का उल्लंघन पाए जाने पर चालानी कार्रवाई की गई। कार्रवाई के दौरान टै्रफिक पुलिस ने कई वाहन स्वामियों को हिदायत दी गई कि वे यातायात नियमों का आवश्यक रूप से पालन करें और हेलमेट का उपयोग करें। कलेक्टर तरूण पिथोड़े के निर्देश के बाद यातायात पुलिस द्वारा शहर में आज सुबह से चालानी कार्रवाई की गई। कार्रवाई के दौरान पुलिस के पास दोपहिया वाहनों की चॉबियों के ढेर लग गए। नेहरू पार्क के पास यातायात पुलिस अमले द्वारा वाहनों को रोककर उनकी जांच की गई। इस दौरान चालानी कार्रवाई देखकर कई वाहन चालक उल्टे पैर वाहन मोडक़र भाग निकले। इधर जिला परिवहन कार्यालय द्वारा भी हाईवे पर वाहनों को रोककर कार्रवाई की गई। वाहनों में अनाधिकृत रूप् से लगे हूटर, सायरन, नंबर प्लेटों को हटाया गया।